Hot Widget

Type Here to Get Search Results !

भारत की प्रथम महिला मुख्यमंत्री कौन थी पुरी जानकारी

bharat ki pratham mahila mukhymantri kaun thi


भारत की प्रथम महिला मुख्यमंत्री कौन थी आज की इस पोस्ट में हम इसी के बारे में जानकारी देने वाले है ऐसे तो इस सवालों का जवाब बहुत सारे लोग जानते हैं लेकिन अगर आप नहीं जानते हैं तो आज का यह पोस्ट आपके लिए है क्योंकि आज हम आपको Bharat Ki Pratham Mahila Mukhymantri Kaun Thi इसके बारे में जानकारी देने वाले है तो आइये जानते हैं भारत की प्रथम महिला मुख्यमंत्री कौन थी 



भारत की प्रथम महिला मुख्यमंत्री कौन थी | Bharat Ki Pratham Mahila Mukhymantri Kaun 


भारत की प्रथम महिला मुख्यमंत्री सुचेता कृपलानी थी इसका जन्म 25 जून 1908 को पंजाब के अंबाला शहर में  बंगाली ब्राह्मण परिवार में हुआ था। इनके पिता सरकारी चिकित्सक थे सुचेता कृपलानी की प्रारंभिक शिक्षा कई स्कूलों में पूरी हुई क्योंकि हर दो-तीन सालों में पिता का तबादला होता रहता था। आगे की पढ़ाई करने के लिए इन्हें दिल्ली भेज दिया गया। दिल्ली विश्वविद्यालय के सेंट स्टीफेंस कॉलेज से उन्होंने इतिहास विषय में स्नातक की डिग्री हासिल किया जब ये कॉलेज की पढ़ाई पुरी कर ली तो ये 21 वर्ष की उम्र में ही  स्वतंत्रता संग्राम में कूदना चाहती थीं दुर्भाग्यवश सुचेता कृपलानी ऐसा नहीं कर पायीं क्योंकि सन् 1929 में उनके पिता और बहन की मृत्यु हो गयी और परिवार को संभालने की जिम्मदारी सुचेता के कंधो पर आ गयी



इसके बाद ये बनारस हिन्दू विश्वविद्यालय (बीएचयू) में संवैधानिक इतिहास की व्याख्याता बन गयी 28 साल की उम्र में इन्होंने  भारतीय राष्ट्रीय कांग्रेस के मुख्य नेता जेबी कृपलानी से विवाह किया हलांकि सुचेता के घर वालों के साथ महात्मा गांधी ने भी विरोध किया क्योंकि जेबी कृपलानी सिन्धी थे और  सुचेता कृपलानी से  उम्र में बीस साल बड़े थे।  गाँधीजी को यह डर था कि इस विवाह के कारण आचार्य जो उनके दाहिने हाथ थे कहीं स्वतंत्रता संग्राम से पीछे न हट जाऐ आचार्य कृपलानी का साथ पाकर सुचेता पूरी तरह से राजनीति में कूद पड़ीं। 1940 में उन्होंने भारतीय राष्ट्रीय काँग्रेस की महिला शाखा अखिल भारतीय महिला काँग्रेस की स्थापना की।



 फिर सन् 1942 में भारत छोड़ो आंदोलन में सक्रिय होने के कारण उन्हें एक साल के लिए जेल जाना पड़ा इसके बाद सन् 1949 में उन्हें संयुक्त राष्ट्र महासभा में एक प्रतिनिधि के रूप में चुना गया था इसके बाद 1962 में सुचेता कृपलानी ने उत्तर प्रदेश विधानसभा का चुनाव लड़ी इन्हें कानपुर निर्वाचन क्षेत्र से चुनी गयीं और इन्हें श्रम सामुदायिक विकास और उद्योग विभाग का कैबिनेट मंत्री बनाया गया इसके बाद 1963 ई में इन्हें उत्तर प्रदेश का मुख्यमंत्री बना दिया गया इसके बाद यह 1963 से 1967 तक उत्तर प्रदेश की मुख्यमंत्री बनी रही उत्तर प्रदेश के ये चौथी और भारत की प्रथम महिला मुख्यमंत्री थी 




इसके बाद 1971 ई में इन्होंने राजनीति से संन्यास ले लिया संन्यास लेने के बाद सुचेता कृपलानी अपने पति के साथ दिल्ली में बस गयी सुचेता कृपलानी निःसन्तान होने के कारण इन्होंने अपना सारा धन और संसाधन लोक कल्याण समिति को दान कर दिया इसके बाद इन्होंने अपनी आत्मकथा भी लिखना शुरू की जिसका नाम था एन अनफिनिश्ड ऑटोबायोग्राफी ये किताब तीन भागों में में प्रकाशित हुआ इसके बाद धीरे-धीरे सुचेता कृपलानी का स्वास्थ्य गिरता गया और 1 दिसम्बर 1974 को हृदय गति रूक जाने के कारण इनका निधन हो गया। अब आप समझ गए होंगे कि भारत की प्रथम महिला मुख्यमंत्री कौन थी इसके साथ ही साथ आप इस पोस्ट में इसके जीवन से जरूर कुछ महत्वपूर्ण जानकारी भी लिऐ 


Conclusion:


मै उम्मीद करता हूँ कि आपको भारत की प्रथम महिला मुख्यमंत्री कौन थी यह जानकारी पसंद आया होगा अगर आपको यह जानकारी पसंद आया तो इसे अपने दोस्तों के साथ शेयर जरूर करें Bharat Ki Pratham Mahila Mukhymantri Kaun Thi इससे संबंधित आपके मन में कोई सवाल या सुझाव है तो आप कमेंट जरूर करें


इसे भी पढ़े :-


एक टिप्पणी भेजें

0 टिप्पणियाँ
* Please Don't Spam Here. All the Comments are Reviewed by Admin.

Top Post Ad

Below Post Ad